यू पी चुनाव को लेकर नीतीश पर रघुवंश के आरोप बेबुनियाद : लालू

पटना 13 मार्च | बिहार में सतारूढ़ महागठबंधन के सबसे बड़े घटक, राजद के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने उनके दल की ओर से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर यूपी विधानसभा चुनाव परिणाम को लेकर लगाये गए आरोपों को सिरे से नकारते हुए सोमवार को यहां कहा कि नीतीश कुमार पर लगाये गए सारे आरोप बेबुनियाद हैं| लालू प्रसाद यादव ने संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा कि महागठबंधन में किसी तरह का कोई विवाद नहीं है| राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की ओर से यूपी चुनाव में हार के लिए नीतीश कुमार को ज़िम्मेदार ठहराए जाने पर, लालू प्रसाद यादव ने कहा कि ये सभी आरोप निराधार हैं| इस बीच रघुवंश प्रसाद सिंह के आरोपों पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए जद (यू) नेता श्याम रजक तथा पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने रघुवंश प्रसाद सिंह को राजद से निष्कासित करने की मांग की और कहा कि ऐसा बयान गठबन्धन धर्म के विरूद्ध है| उल्लेखनीय है कि यूपी के चुनाव परिणामों के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा था कि यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा से नीतीश ने फिक्सिंग की थी। उन्होंने कहा कि चुनाव के पहले की नीतीश कुमार की तैयारी और चुनाव के दौरान उनकी चुप्पी से, श्री कुमार की मंशा पर सवाल उठ रहा है। चुनाव की घोषणा से पहले जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में नीतीश कुमार ने तैयारियां कर रखी थीं किन्तु चुनाव की तिथि घोषित होते ही नीतीश कुमार ने चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर दी। नीतीश कुमार ने ऐसा कोई कार्यक्रम भी नहीं किया जिससे लगे कि वे महागठबंधन के साथ हैं। चुनाव परिमाण पर नीतीश कुमार के तटस्थ रुख पर भी रघुवंश प्रसाद सिंह ने कई सवाल उठाये और सभी धर्मनिरपेक्ष ताकतों से एकजुट होने की अपील की| गठबंधन धर्म को लेकर राजद पर उठ रही उँगलियों के बीच पार्टी के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने रघुवंश प्रसाद सिंह के आरोपों को बेबुनियाद बता कर राजनितिक स्थिति को सम्भालने की कोशिश की है| इस बीच गोवा और मणिपुर के विधानसभा चुनाव के परिणामों पर बोलते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा कि गोवा और मणिपुर में किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पहले सरकार बनाने का दावा नहीं किया है जिसके कारण दोनों स्थानों पर विधायकों की खरीद- फरोख्त हो रही है। उन्होंने कहा कि गोवा में कांग्रेस पार्टी अपने दल का नेता भी नहीं चुन पाई| लालू प्रसाद यादव ने राज्यपाल को सभी को मौका देने की सलाह दी|

Shares