‘मेड इन चाइना’ एलईडी को नकली लोगो लगा बना रहा था ‘मेक इन इंडिया’

ग्वालियर, 06 मार्च । सस्ती और घटिया क्वालिटी की चाइना मेड एलईडी और एलसीडी मंगा कर एक व्यापारी कुछ देशी ब्रांड्स के नकली लोगो व स्टिकर्स लगा कर अपनी शॉप से बेच रहा था। असली ब्रांड्स के मैनेजमेंट की शिकायत पर पुलिस ने रेड की कार्रवाई की तो शॉप से ढेर सारा नकली सामान जब्त हुआ। ग्वालियर की डीडवाना ओली में दो इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबारियों के यहां रेड की कार्रवाई में पुलिस को लगभग 4 लाख रुपए कीमत की नकली ब्रांड्स की एलईडी मिली। इस शॉप से व्यापारी चाइना में बनी सस्ती व घटिया क्वालिटी की एलईडी पर इंटेक्स व क्राउन ब्रांड का लोगो लगाकर बेच रहे थे। नकली ब्रांड्स के कारोबारियों को पकडऩे के लिए पहले एक कंपनी के इन्वेस्टिगेशन अधिकारी ने इनसे एलईडी खरीदने का सौदा किया। सौदा तय होने के बाद कंपनी के इन्वेस्टिगेशन अधिकारी माल की डिलीवरी लेने शॉप पर पहुंच गए। माल बाहर आते ही इन्होंने पुलिस को संकेत कर दिया। पुलिस शॉप के पास ही मौजूद थी, लिहाजा कारोबारी रंगे हाथों पकड़े गए। इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी इंटेक्स व क्राउन के मैनेजमेंट की शिकायत पर 28 नकली एलईडी बरामद की गईं। इस कारोबार की शिकायत अजय देवलिया ने एसपी डॉ.आशीष कुमार से की थी। मैनेजमेंट की ओर से इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर अजय देवलिया ने डीडवाना ओली में सागर व नेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स की शिकायत की थी। पुलिस के निर्देश पर देवलिया ने सागर व नेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स पर थोक में एलईडी खरीदने के लिए डील की। डीलर 10,500 रुपए में ब्रांड की एलईडी बेचने पर राजी हो गए, जबकि इसी ब्रांड की कीमत 15,500 रुपए थी। डील तय होने के बाद पुलिस ने छापा मारकर धर्मपाल हिंदूजा के सागर इलेक्ट्रॉनिक्स से 19 एलईडी व संतोष जैन के नेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स से 9 एलईडी बरामद कर लीं। दोनों शोरूम के संचालकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, उनसे पूछताछ की जा रही है।

Shares