मूसलाधार बारिश के कारण मध्य प्रदेश बेहाल, अब तक 32 लोगों की मौत

मध्य प्रदेश के 36 जिले इस समय मूसलाधार बारिश की चपेट में हैं. भयंकर बाढ़ के कारण अब तक 32 लोगों को मौत हो चुकी है. मौसम विभाग के मुताबिक, उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, आगर, शाजापुर, देवास, भोपाल, रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, राजगढ़, सीहोर, गुना, शिवपुरी समेत कई जिलों में मूसलाधार बारिश हो रही है.

बारिश के कारण नर्मदा, शिवना, बेतवा और ताप्ती नदियों के अलावा कई नदियां और नाले उफन पर हैं. मध्यप्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश के भी कई जिले में बारिश के कारण नदियां उफान पर है.

मध्य प्रदेश में लगातार तेज बारिश के चलते कई इलकों का संपर्क कटा हुआ है. इस बीच मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के 36 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, आगर, शाजापुर, देवास, भोपाल, रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, राजगढ़, सीहोर, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, श्योपुरकलां, बैतूल, हरदा, इंदौर, धार, खंडवा, छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी और सतना जिले में भारी बारिश की आशंका जताई है.

कई इलाकों का सड़क संपर्क कटा

मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश के कारण नर्मदा, शिवना, बेतवा और ताप्ती नदियों के अलावा कई नदियां और नाले उफन पर हैं. इसके चलते मंदसौर, नरसिंहपुर, बैतूल, सागर जिलों के कई इलाकों में कुछ देर के लिए सड़क संपर्क कट गया था.

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि मध्य प्रदेश के लोगों को 16 अगस्त के बाद बारिश से कुछ राहत मिल सकती है.

,
Shares