मलिका ने कहा छवि धूमिल करने के लिए बैनर्जी ने आरटीआई कार्यकर्ता से करवाई शिकायत

 

 

भोपाल-कम्पलीशन सर्टिफिकेट मामले में नगर निगम की किरकिरी पर अपर आयुक्त मलिका निगम नागर और चीफ सिटी प्लानर शुभाशीष बैनर्जी के बीच खींचतान खुलकर सामने आ गई है। अपर आयुक्त मलिका ने आयुक्त प्रियंका दास को लिखे पत्र में खुलासा किया है कि चीफ सिटी प्लानर बैनर्जी ने एक आरटीआई कार्यकर्ता के माध्यम से शिकायत करवाई है। मलिका ने यह भी कहा कि परिषद की बैठक में कम्प्लीशन सर्टिफिकेट मामले में पूछे गए सवाल पर जानकारी उपलब्ध नहीं करवाई। इससे निगम की छवि खराब हुई है। इसके बावजूद भी उन्हें पूरे शहर का जिम्मा सौंप दिया गया। उन्होंने बैनर्जी पर कार्रवाई का आग्रह किया है। इससे पहले मलिका ने आयुक्त को दिए जवाब में स्पष्ट कर चुकी हैं कि बिल्डिंग स्ट्रक्चर के ही कम्प्लीशन सार्टिफिकेट जारी किए गए हैं, पूरे प्रोजेक्ट को नहीं। इसमें किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हुई है।

——–

पत्र में बताया…ऐसे रची गई साजिश

अपर आयुक्त ने अपने जवाब में यह भी कहा है कि आरटीआई कार्यकर्ता मनोज त्रिपाठी तीन सप्ताह पहले मेरे पास आए थे। उन्होंने बताया कि भवन अनुज्ञा शाखा के कुछ अधिकारी आधा प्रभार छिन जाने से आपसे नाराज हैं। आपके खिलाफ शिकायत करने के लिए संपर्क किया है। मेरे पूछने पर आरटीआई एक्टिविस्ट ने शुभाशीष बैनर्जी का नाम लिया। इसके तीन दिन बाद त्रिपाठी ने सर्टिफिकेट को लेकर मेरे खिलाफ मुख्य सचिव, नगरीय प्रशासन आयुक्त और निगम कमिश्नर से शिकायत की। इस संबंध में वस्तुस्थिति बताते हुए बिल्डिंग परमिशन शाखा से मुक्त करने का आग्रह किया।

——-

कमेटी ने मांगी फाइलें

इधर, कम्प्लीशन सार्टिफिकेट की जांच के लिए कमेटी ने बिल्डिंग परमिशन शाखा से जोन 18 और 19 की फाइलें मांगी है। इसके बाद सार्टिफिकेट की जांच की जाएगी। कमेटी में शामिल इंजीनियर भौतिक सत्यापन करेंगे।

,
Shares