मध्य प्रदेश में बोगस नहीं, डुप्लीकेट वोटर्स हैं : मुख्य चुनाव आयुक्त

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग भी हरकत में आ गया है। मंगलवार को भोपाल पहुंचे मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा, ‘चुनाव आयोग सभी राजनीतिक दलों से मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेकर उन पर संज्ञान ले रहा है, लेकिन बोगस मतदाताओं को लेकर की जा रही शिकायत की जांच में सामने आया कि वे बोगस नहीं, बल्कि डुप्लीकेट वोटर थे।’

बकौल रावत, चुनाव आयोग मल्टीपल वोटर्स के नाम हटाने का काम कर रहा है। आयोग राजनीतिक पार्टियों की हर तरह की समस्या को हल करेगा।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक कर कानून-व्यवस्था और प्रशासनिक तैयारियों की समीक्षा भी की। समीक्षा के बाद ही चुनाव के तैयारियों की स्थिति तय की जाएगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त होटल जहांनुमा पैलेस में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस ने मुख्यमंत्री को लेकर एक शिकायत दर्ज कराई है। कांग्रेस नेता जेपी धनोपिया का आरोप है कि मुख्यमंत्री निवास स्थान भाजपा कार्यालय की तर्ज पर उपयोग में आ रहा है। सीएम हाउस में लगातार गैर सरकारी काम हो रहे हैं। कांग्रेस ने इस पर रोक लगाने की मांग की है।

इस दौरे पर मुख्य चुनाव आयुक्त नर्मदा भवन में दोपहर से रात तक पुलिस अधिकारियों और कलेक्टर के साथ भी बैठक करेंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त शाम को मीडिया से विस्तृत चर्चा करेंगे।

,
Shares