मणिपुर : भाजपा ने बनाया इतिहास, पिछले चुनाव में शून्य, इस बार तोड़ा कांग्रेस का गुरूर

इंफाल, 11 मार्च । मणिपुर विधानसभा चुनाव में सभी सीटों के परिणाम घोषित हो गए हैं | कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है और भाजपा दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है | भाजपा ने 2017 के चुनाव में न सिर्फ इतिहास बनाया है बल्कि पिछले चुनाव में शून्य पर आउट होने वाली भाजपा ने इस बार 21 सीटें जीतकर कांग्रेस का गुरूर तोड़ डाला है | घोषित 60 सीटों में कांग्रेस-28, भाजपा-21, एलजीपी-1, एनपीपी-4 एनपीएफ-4, एआईटीसी-1 व अन्य-1 सीट लेने में सफल रहा है | मणिपुर से पहला नतीजा इबोबी सिंह को मिली जीत के साथ आया है | इनसे आयरन लेडी के नाम से फेमस इरोम शर्मिला हार गयी हैं । पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा को जहाँ एक भी सीट नहीं मिली थी वहीँ भाजपा का 21 सीट मिलना बड़ी बात मानी जा रही है | 60 सीटों की विधानसभा चुनाव में सरकार बनाने के लिए 31 सीटों की जरुरत है मगर कांग्रेस को मात्र 28 सीटें मिली हैं जिससे यह तय है की बिना किसी के सहयोग के कांग्रेस भी सरकार नहीं बना सकती | ऐसी स्थिति में सरकार बनाने में विफल होने पर भाजपा को भी सरकार बनाने का मौका राज्यपाल दे सकते हैं | मणिपुर में जो जनता ने फैसला दिया है उसमें एलजीपी-1, एनपीपी-4, एनपीएफ-4, एआईटीसी-1 व अन्य-1 सीट की भूमिका भी महत्वपूर्ण हो गयी है | उल्लेखनीय है कि 2017 के विधानसभा चुनाव में किस्मत आजमाने वाले 273 उम्मीदवार थे | राज्य में कुल 11 मतगणना केंद्रों पर गिनती करायी गयी | सुबह में जब गिनती शुरू हुई तो शुरू के पांच चक्रों की गिनती तक भाजपा के उम्मीदवार बढ़त बनाये हुई थे , लेकिन छठे चक्र की गिनती के बाद कांग्रेस को जब बढ़त मिलनी शुरू हुई तब फिर कांग्रेस ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और आगे ही बढ़ती चली गयी | मगर परिणाम के हर चक्र में कांग्रेस और भाजपा एक-दो सीटों के आंकड़ो से फासला रखती रही जिससे परिणाम पूरी तरह रोचकता भरा रहा | अंतिम के चार चक्रों के मुकाबलों में कांग्रेस ने भाजपाइयों को आगे नहीं बढ़ाने दिया जिससे कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर गयी |

Shares