भोपाल: मौसम में फिर बदलाव, बारिश की संभावना

 

भोपाल/गुना, 09 मार्च । मध्यप्रदेश का मौसम एक बार फिर बदल गया है। गर्मी की आहट शुरू होने के बाद मौसम में पिछले दो-तीन दिन से आसमान में बादल रह-रहकर छा रहे हैं, जो कभी भी बूंदाबांदी के रुप में बरस सकते हैं। मौसम विभाग ने भी कुछ ऐसी ही आशंका व्यक्त की है। मौसम विभाग के मुतााबिक एक, दो दिन में गरज-बरस के साथ बूदांबांदी हो सकती है। इधर, आसमान में रह-रहकर गहराते संकट के बादलों को देख अन्नदाता किसान की सांसें अटक रहीं है। किसानों के मुताबिक अगर बारिश होती है तो उन्हे काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। कारण जिले में जहां कई स्थानों पर खेतों में फसल पलहलहा रही है तो कुछ जगह कटाई का दौर भी शुरु हो चुका है। देश के ठंडे प्रदेशों में बर्फबारी हुई है, इस बीच प्रदेश का मौसम भी बदला है। पिछले दो-तीन दिन से आसमान में सूर्य और बादलों के लगातार आँख-मिचौली का खेल चल रहा है। अचानक आसमान में धूप खिल उठती है तो एकदम से कहीं से भटकते हुए आवारा बादल आकर सूर्य देवता को अपने आगोश में ले लेते है। यह क्रम लगातार देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग इसे बारिश के संकेत मानकर चल रहा है। विभाग का कहना है कि हवाएं पश्चिम से पूरब की ओर चल रहीं है, जो अपने साथ बादलों को लेकर आ रहीं है। एक, दो दिन में इसके चलते गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। हालांकि मौसम विभाग छुटपुट बूदांबांदी की बात ही कह रहा है। मौसम में तापमान भी बढ़ गया है। आज का अधिकतम तापमान 33.2 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1 डिग्री रहा, वहीं रात का तापमान 16.2 डिग्री रिकॉर्ड हुआ, सामान्य से 2 डिग्री रहा। मौसम विभाग के अनुसार आगामी 24 घंटे में तापमान में गिरावट आ सकता है। किसानों का कहना है कि जिले में कई स्थानों पर खेतों में फसलें लहलहा रहीं है, वहीं कुछ स्थानों पर कटाई का दौर भी शुरु हो चुका है। जो फसल पहले बोई गईं थी, वह काटी जा रही है और जिन फसलों की बोवनी बाद में हुई थी, वह खेत में लहलहा कर मन को प्रफुल्लित कर रहीं हैं। अगर ऐसे में बारिश होती है तो दोनों फसल को नुकसान होगा। जहां खेत में फसल दागदार होने के साथ खेत ही में आड़ी होगी, वहीं कटी हुई फसल, जिसे खेत और खलिहान में रखा हुआ है उसका दाना कमजोर होने के साथ ही रंग भी बदलेगा। इसके चलते मंडी में उस फसल के दाम कम हो जाएंगे।

Shares