भारत 63 रन से जोहान्सबर्ग टेस्ट जीता

जोहान्सबर्ग। भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 63 रनों से हराकर जोहान्सबर्ग टेस्ट जीत लिया है। मैच के चौथे दिन भारतीय गेंदबाजों ने सधी हुई गेंदबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम को महज 177 रनों में समेट लिया।

भारत की तरफ से मोहम्मद शमी सबसे सफल गेंदबाज रहे। शमी ने दूसरी पारी में पांच विकेट झटके। शमी ने अहम मौकों पर टीम को जरूरी विकेट दिलाए। शमी ने लोअर ऑर्डर के बल्लेबाजों फिलेंडर,फेलुकवायो के अलावा मॉर्केल को अपना शिकार बनाया। वहीं बुमराह औऱ ईशांत शर्मा के खाते में दो-दो विकेट आए। इसके अलावा भुवनेश्वर कुमार ने अहम मौके पर रबाडा का विकेट लेकर मैच पर भारत की पकड़ मजबूत की।

एक वक्त दक्षिण अफ्रीका मजबूत स्थिति में नजर आ रहा था। दूसरे विकेट के लिए अमला और एल्गर ने 119 रन जोड़ लिए थे। इस दौरान दोनों ने अर्धशतक भी जमा लिए थे। मगर 124 रन के स्कोर पर ईशांत शर्मा ने अमला का विकेट लेकर भारत के लिए जीत की नींव रखी। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के विकेट लगातार गिरते गए। अमला के आउट होने के बाद एबी डिविलियर्स, फाफ डू प्लेसिस औऱ डी क़ॉक आउट हुए। 150 रन के भीतर ही दक्षिण अफ्रीका के पांच विकेट गिर चुके थे। इसके बाद शमी ने रही सही कसर पूरी कर दी और टीम को जीत दिलाने में सबसे अहम रोल निभाया।

इससे पहले चौथे दिन के खेल की शुरुआत आउटफील्ड गीला होने की वजह से देरी से हुई। जीत के लिए मिले 241 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम ने संभलकर खेलना शुरू किया। एल्गर और अमला की जोड़ी ने अच्छी बल्लेबाजी की। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 119 रन जोड़े। इस दौरान दोनों ने अपने अर्धशतक भी पूरे किए। मगर अमला के रूप में दूसरा विकेट गिरते ही विकेटों की झड़ी लग गई और भारत ने मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली।

इसके पूर्व पहली पारी में 7 रनों से पिछड़ने के बाद भारत की दूसरी पारी 247 रनों पर समाप्त हुई। अजिंक्य रहाणे ने 48 और कप्तान विराट कोहली ने 41 रनों का योगदान दिया। भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों भुवनेश्वर कुमार (33) और मोहम्मद शमी (27) के महत्वपूर्ण योगदान से भारत चुनौतीपूर्ण स्कोर बना पाया।

तीसरे दिन शुक्रवार को मैच पर संदेह के बादल उस समय छा गए थे जब द. अफ्रीका की दूसरी पारी में जसप्रीत बुमराह की गेंद मेजबान सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर के हेलमेट पर लगी थी। इसके बाद अंपायरों ने खेल रोक दिया था। इसके बाद दिन का खेल खत्म कर दिया गया था। मैच रैफरी एंडी पायक्रॉफ्ट ने इसके बाद अंपायर्स और दोनों कप्तानों से मुलाकात की और यह फैसला किया गया कि पिच इतनी खराब नहीं है कि मैच रद्द कर दिया जाए, इसके चलते मैच शुक्रवार को निर्धारित समय पर शुरू होगा।

इससे पहले तीसरे दिन का खेल जल्दी खत्म होने के बाद ऐसा माना जा रहा था कि मैच रद्द घोषित कर दिया जाएग। आईसीसी ने ट्‍वीट किया, ‘मैदानी अंपायरों ने मैच रैफरी से चर्चा की और फिर दोनों कप्तानों से मुलाकात के बाद यह फैसला किया गया कि वाण्डरर्स मैदान की पिच इतनी खराब नहीं है कि मैच रद्द किया जाए।’ इसके बाद चौथे दिन मैच हुआ और भारत ने जोहान्सबर्ग में अपने नहीं हारने के रिकॉर्ड को बरकरार रखा।

,
Shares