बिजली कटौती पर मध्य प्रदेश में प्रदर्शन, सड़कों पर लालटेन लेकर उतरी BJP

 

मध्यप्रदेश में इनदिनों बिजली कटौती का मुद्दा छाया हुआ है. बीजेपी का आरोप है कि लगातार हो रही बिजली कटौती से सूबे के लोग परेशान हैं. बीजेपी ने इसे मुद्दा बनाते हुए सड़कों पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. बुधवार को बीजेपी ने पूरे प्रदेश में लालटेन यात्रा निकाल कर बिजली कटौती के खिलाफ प्रदर्शन किया.

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जहां शुजालपुर में लालटेन यात्रा की कमान संभाली तो वहीं राजधानी भोपाल में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, विधायक विश्वास सारंग और रामेश्वर शर्मा समेत बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यक्रर्ता शामिल हुए. भोपाल में लिली टाकीज से लाल परेड ग्राउंड तक लालटेन यात्रा निकाली गई.

भोपाल में लालटेन यात्रा के दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद राकेश सिंह ने कहा कि ‘मध्यप्रदेश के हालात बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं. कमलनाथ को प्रदेश की जनता से कोई लेना देना नहीं है. बिजली के इन्हीं उपकरणों से ही 15 सालों से भारतीय जनता पार्टी सरकार ने बिजली का भरपूर उत्पादन कर सरप्लस राज्य बना दिया था. कमलनाथ सरकार ने आते ही सरकार के मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं की खाली जेबों को भरने के लिए तबादला उद्योग के बाद अब बिजली के उपकरण खराब होने की वजह बताकर कमलनाथ सरकार ट्रांसफार्मर घोटाला करने जा रही है. कांग्रेस की सरकार पानी और बिजली जैसी मूलभूत समस्याओं पर भी अपनी जिम्मेदारी निभाने के बजाए कभी अधिकारियों को कोसती है तो कभी बिजली उपकरणों की गुणवत्ता पर प्रश्न खड़े करती है.’

शिवराज सिंह चौहान ने उठाए सवाल

शुजालपुर में प्रर्दशन के दौरान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शाजापुर जिले के शुजालपुर मंडी में लालटेन यात्रा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने बच्चों की फीस भरना, लैपटॉप देना, गरीबों का मुफ्त इलाज तक बंद कर दिया है. बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन योजना से मोहताज कर दिया. प्रसूता महिलाओं को मिलने वाली राशि खाते में नहीं डाली जा रही है.

,
Shares