प्रशासनिक आतंकवाद के प्रतीक बन चुके जुलानिया

भोपाल, 22 मार्च  । प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के.के. मिश्रा ने बुधवार को अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया के दुर्व्यवहार के बाद एक कर्तव्यनिष्ठ आईएएस आफीसर संतोष मिश्रा को आये हार्ट अटैक की घटना को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए जानना चाहा है कि आखिरकार प्रशासनिक आतंकवाद के प्रतीक बन चुके जुलानिया पर वह इतनी मेहरबान क्यों है? अपने बयान में जुलानिया और उनके दुर्व्यवहारों की श्रृंखलाओं पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि उनके व्यवहार से तो यही कहा जा सकता है कि हिटलर के रूप में अपने आचरण से अधीनस्थों पर वे प्रशासनिक आतंकवाद का सहारा ले रहे हैं! आखिरकार क्या कारण है कि सम्मान की जिंदगी से जीने वाले कई प्रशासनिक अधिकारी उनके अधीनस्थ कार्य करने से सीधे तौर पर मना कर रहे हैं, आईएएस रमेश थेटे के बाद संतोष मिश्रा, कलेक्टर बड़वानी तेजस्वी नाईक उनके दुर्व्यवहार व अपमान के शिकार हुए ? मंगलवार को विधानसभा के प्रवेशद्वार पर मुस्तैदी के साथ कार्यरत सुरक्षाकर्मी के साथ बदतमीजी किस बात व अहंकार का प्रतीक है। मिश्रा ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से आग्रह किया है कि वे अपने व्यक्तिगत हस्तक्षेप से मंत्रालय को इस प्रशासनिक आतंकवाद से मुक्ति दिलाऐं।

Shares