न नरेंद्र मोदी, न राहुल गांधी, कोई और ही बनेगा प्रधानमंत्री:अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि न नरेंद्र मोदी, न राहुल गांधी, कोई और ही प्रधानमंत्री बनेगा. केजरीवाल का यह बयान उस समय आया है, जब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन की सुगबुगाहट तेज है. हालांकि, दोनों पार्टियां इससे इनकार कर रही है. इससे पहले केजरीवाल, कोलकाता में ममता की मेगा रैली में हिस्सा लेने पहुंचे थे. चंद्रबाबू नायडू भी केजरीवाल से मिले थे. ऐसा माना जा रहा है केजरीवाल लोगों को यह विश्वास दिलाना चाहते हैं कि केंद्र में गैर बीजेपी गैर कांग्रेसी सरकार बनेगी.

शास्त्री पार्क में रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की जनता से मोदी जी बदला ले रहे हैं. देश बचाना है तो मोदी और अमित शाह की जोड़ी को हराया जाए. ये प्रधानमंत्री बनाने का नहीं मोदी और शाह को हराने का चुनाव है. एक-एक आदमी चुनावी गणित 100 लोगों को बताए.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि फ्लाईओवर का निर्माण ही असली राष्ट्र निर्माण है. हिन्दू मुसलमान को लड़ाना, नोटबन्दी, जीएसटी, सीलिंग, राफेल में पैसे खाना राष्ट्र निर्माण नहीं है. दिल्ली में बलात्कार बढ़ रहे हैं, छेड़छाड़ बढ़ रही है, लेकिन सीसीटीवी लगवाने की फ़ाइल 3 साल तक अटका दी. शर्म आती है ऐसे प्रधानमंत्री पर जो हमें काम नहीं करने देता. बीजेपी सांसद काम करके दिखाएं तो मैं खुद मोदी को वोट दे आऊंगा.

उन्होंने कहा कि मोदी जी का एक ही नारा, न काम करूंगा, न काम करने दूंगा. अमित शाह और नरेंद्र मोदी की जोड़ी लोगों को धर्म और जात के नाम पर लड़वा रहे हैं. तेलंगना में ज्वाला गुट्टा के पूरे परिवार का नाम कटा था, क्योंकि वो मोदी को वोट नहीं करती. बीजेपी वाले मुसलमानों से नफरत करते हैं. उन्होंने कहा कि कुछ लोग गलतफहमी फैला रहे हैं कि फ्लाईओवर बना तो घर तोड़े जाएंगे, एक भी घर टूटने नहीं दूंगा.
केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली में जितने भी अच्छे काम हो रहे हैं, जितने भी विकास कार्य हो रहे हैं. इसका श्रेय दिल्ली की जनता को जाता है. एक ईमानदार सरकार को चुनकर दिल्ली की जनता ने देश की राजनीति बदली है.

इससे पहले वोटर लिस्ट से नाम काटे जाने को लेकर सीएम केजरीवाल और बीजेपी विधायक ट्विटर पर भिड़ गए थे. केजरीवाल ने ट्वीट करके लिखा था, आपके चुनाव आयोग ने ही हमें 4 साल में काटे 24 लाख लोगों की लिस्ट दी है. इस बार बीजेपी का गंदा खेल पहले ही खुल गया. इस लिए आप इतना बौखलाए हुए हैं. मैं अभी आपको अगर कई ऐसे लोगों की लिस्ट दूं जिनके नाम फ़र्ज़ी काटे गए हैं, तो क्या आपका चुनाव आयोग इस्तीफ़ा देगा?

,
Shares