नेतन्याहू को लेकर पीएम मोदी पहुंचे तीन मूर्ति चौक

नई दिल्ली। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा नेतन्याहू 14 जनवरी को भारत यात्रा पर दिल्ली पहुंचे, जहां भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी ने उनका गले लगाकर स्वागत किया।

आपको बता दें कि इजरायली पीएम का स्वागत करने के लिए भारत के पीएम मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़ा। हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं है कि किसी वैश्विक नेता का स्वागत करने के लिए पीएम मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़ा है।

एयरपोर्ट से दोनों प्रधानमंत्री सीधे तीन मूर्ति चौक पहुंचे, जहां उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की और कुछ मिनट का मौन रखा।

आपको बता दें कि नेतन्याहू के भारत आने से पहले ही दिल्ली के तीन मूर्ति चौक और तीन मूर्ति मार्ग का नाम बदल दिया गया था। अब इसे तीन मूर्ति हाइफा चौक और तीन मूर्ति हैफा मार्ग के तौर पर जाना जाएगा। हाइफा इजराइल के एक शहर का नाम है।

आपको बता दें कि इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू का दिल्ली, अहमदाबाद और मुंबई में मुख्य कार्यक्रम है। इसके अलावा वह ताजमहल का दीदार करने आगरा भी जाएंगे।

गौरतलब है कि पिछले साल ही जुलाई में पीएम मोदी इजरायल दौरे पर गए थे, जो किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री का पहला इजरायल दौरा था। वहीं, नेतन्याहू से पूर्व 15 साल पहले इजरायल के पीएम ऐरल शेरॉन भारत के दौरे पर आए थे।

18 जनवरी तक रहेंगे भारत के दौरे पर –

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू 14-18 जनवरी तक भारत दौरे पर रहेंगे। पीएम नेतन्याहू 14 जनवरी को नई दिल्ली आएंगे। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 जनवरी को इजरायली पीएम से हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। 16 जनवरी को नेतान्याहू ताजमहल देखने आगरा जाएंगे। 17 जनवरी को भारतीय पीएम मोदी और इजरायली पीएम नेतान्याहू अहमदाबाद जाएंगे, जहां दोनों पीएम का रोड शो भी हो सकता है।

यह खास तोहफा दे सकते हैं नेतन्याहू

अपने इस दौरे पर नेतन्याहू अपने दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक खास गिफ्ट दे सकते हैं। यह एक गाड़ी है, जो समुद्र के पानी को भी फिल्टर कर पीने लायक बना सकती है। इजरायल दौरे के दौरान पीएम मोदी ने इस गाड़ी के द्वारा किया गया समुद्र का पानी भी पिया था।

 

बीते तीन वर्षों में दोनों देशो के बीच काफी उच्च स्तरीय आदान प्रदान हुए हैं। प्रधानमंत्री नेतन्याहू का भारत दौरा भारत और इजरायल के बीच 25 वर्षों से बढ़ते साझेदारी की सिल्वर जुबली है। इस दौरे का उद्देश्य दोनों देशों के संबंधों में प्रगति लाना और दोनों देशो के लोगों के बीच अगले आने वाले वर्षों के लिए संबंधों को आकार देना है।

इजरायली दूतावास ने गुरुवार को बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ नेतन्याहू बैठक करेंगे। उनके साथ एक कारोबारी शिष्टामंडल भी भारत आ रहा है।

इस दौरान कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। भारत अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने की ओर कदम बढ़ाएगा। नेतन्याहू के इस दौरे पर भारत इस्रायल से टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल एटीजीएम स्पाइक खरीदने पर विचार कर रहा है। यह खरीद सरकार से सरकार के स्तर पर होगी।

,
Shares