‘नर्मदा में जलकुंभी फैलाव को रोकने के स्थाई उपाय करें’

भोपाल, 23 मार्च । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को नर्मदा नदी में जलकुंभी के फैलाव को रोकने के लिये अधिकारियों को निर्देशित किया है। उन्होंने इसकी कार्य-योजना बनाकर युद्ध-स्तर पर जलकुंभी हटाने और इसके पैदा होने के कारणों के निवारण के स्थायी उपाय करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में गुरुवार को अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हें नर्मदा नदी को पूरी तरह साफ-स्वच्छ रखने के स्थायी उपाय करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगरीय विकास, जल संसाधन और नर्मदा घाटी विकास विभाग एवं होमगार्ड आदि के समन्वय से नदी के जल को निर्मल रखने के कार्य किये जायें। श्री चौहान ने कहा कि मॉ नर्मदा न केवल प्रदेशवासियों की श्रद्धा का केंद्र है बल्कि प्रदेश की प्रगति और विकास का आधार है। उसकी धारा को निर्मल और प्रबल बनाना सबका परम कत्र्तव्य है। मुख्य सचिव बी.पी.सिंह ने बताया कि नर्मदा नदी की धारा जहां धीमी है वहां पर कुछ स्थानों पर जलकुंभी पैदा हो रही थी, जिसे हटाने का कार्य शुरू हो गया है। बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास आर.एस. जुलानिया, गृह के.के.सिंह, नर्मदा घाटी विकास रजनीश वैश्य, कृषि उत्पादन आयुक्त पी.सी.मीणा, महानिदेशक होमगार्ड वी.के.सिंह, प्रमुख सचिव नगरीय विकास मलय श्रीवास्तव, जल संसाधन पंकज अग्रवाल, सचिव मुख्यमंत्री विवेक अग्रवाल आदि अधिकारी उपस्थित थे।

Shares