‘नदी संरक्षण का सबसे बड़ा अभियान है नर्मदा सेवा यात्रा’

सीहोर, 25 मार्च । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार शाम को अपने विधानसभा क्षेत्र बुधनी पहुंचने पर नर्मदा सेवा यात्रा में शामिल हुए। बुधनी में शाम को जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसे संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा विश्व में नदी संरक्षण का सबसे बड़ा अभियान है। गंगा-जमुनी संस्कृति का अनूठा संगम इस यात्रा में देखने को मिल रहा है, जहॉ सभी धर्मों के लोग पर्यावरण व जल संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिये समन्वित प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा प्रारम्भ करने के जो मुख्य उद्देश्य हैं उनमें नर्मदा नदी व अन्य नदियों के संरक्षण, स्वच्छता, तथा वृक्षारोपण के प्रति जनजागरूकता लाने के साथ साथ नशा मुक्ति के लिये समाज में माहौल तैयार करना तथा जैविक खेती को बढ़ावा देना भी प्रमुख है। कार्यक्रम में प्रदेश की नगरीय विकास मंत्री माया सिंह, लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर विश्वविख्यात संत सुधांशु महाराज, उज्जैन के संत शांति स्वरूप, प्रख्यात भजन गायक लखवीर सिंह लख्खा ,भोपाल हूजूर विधायक रामेश्वर शर्मा, मार्क फेड के अध्यक्ष रामाकांत भार्गव, म.प्र. खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चोबे, म.प्र. वेयर हाउस कार्पोरेशन के अध्यक्ष आर.एस. राजपूत, साध्वी प्रज्ञा भारती सहित विभिन्न संत गण उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा नदी ग्लेशियर से नही निकलती है , वर्षा ऋतु के दौरान जमीन द्वारा सोखा गया जल केवल वृक्षों की जड़ो के माध्यम से ही नर्मदा को पोषित करता है। इसलिये नर्मदा के दोनों तटों पर एक एक किलोमीटर क्षेत्र में वृक्षारोपण के लिये आगामी २ जुलाई से विशेष अभियान प्रारम्भ होगा और एक ही दिन में बडवानी अलीराजपुर से लेकर अमरकंटक तक करोडों पौधे नर्मदा तट पर लगाये जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने निर्णय लिया है कि आगामी वित्त वर्ष से अब १२वीं कक्षा में ७५ प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को उच्चस्तरीय तकनीकी, मेडिकल जैसे शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के बाद इन शिक्षण संस्थानों की फीस सरकार भरेगी। उन्होंने कहा कि नर्मदा तटों पर ५ किलोमीटर क्षेत्रों में आगामी 1 अप्रैल से कोई शराब की दुकान संचालित नहीं होगी। इसके लिये सरकार ने आदेश भी जारी कर दिये हैं। संत सुधांशु महाराज ने कहा कि मां नर्मदा का पृथ्वी पर अवतरण भगवान शंकर की कृपा और आशीर्वाद से हुआ है। नर्मदा की इतनी महिमा है कि इसका एक-एक कंकर नर्मदेश्वर शंकर के रूप में पूजा जाता है। आज इसी मॉ नर्मदा को प्रदूषण मुक्त तथा नर्मदा में जल के अविरल प्रवाह के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा सेवा यात्रा प्रांरभ की है जो स्तुत्य है। बुधनी में देर रात सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। लखबीर सिंह लख्खा ने इस दौरान कई भजन सुनाए। इस दौरान भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Shares