धमाके से दहला काबुल, आत्मघाती हमले में 40 लोगों की मौत, 140 घायल

गृह युद्ध की आग में झुलसे अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में फिर से बड़ा आत्मघाती हमला हुआ है. इस हमले में 40 लोगों की मौत हो गई, जबकि 140 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों की संख्या में इजाफा हो  सकता है. यह हमला गृह मंत्रालय की इमारत को निशाना बनाकर किया गया है. हमलावर ने विस्फोटक से भरी एंबुलेंस को गृह मंत्रालय की पुरानी इमारत के पास उड़ा दिया.

टोलो न्यूज के गृह मंत्रालय के हवाले से बताया कि आत्मघाती हमलावर ने गृह मंत्रालय की पुरानी इमारत नजदीक दो चेकपोस्ट के बीच में विस्फोट से भरी एंबुलेंस को उड़ा दिया. अधिकारियों के मुताबिक इस फिदायीन हमले में जान गंवाने वाले ज्यादातर आम नागरिक हैं. इसमें गृह मंत्रालय की इमारत को भी काफी नुकसान पहुंचा है. जहां पर यह धमाका हुआ, उससे कुछ ही दूरी पर कई देशों के दूतावास भी हैं.

वहीं, हमले में घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन तालिबान ने ली है. अफगानिस्तान में आपातकालीन मदद पहुंचाने वाले इतालवी समूह के समन्वयक ने इस घटना को नरसंहार करार दिया है. इस समूह का घटनास्थल के पास ही ट्रॉमा हॉस्पिटल है. समूह ने ट्वीट कर बताया कि उनके हॉस्पिटल में 50 से ज्यादा घायल लोगों को भर्ती कराया गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि काबुल के सिटी हॉस्पिटल में 17 मृत और 110 घायल लोगों को लाया गया है.  इससे पहले 20 जनवरी को भी  तालिबान आंतकियों ने काबुल स्थित काबुल्स इंटरकॉन्टिनेंटल होटल में हमला किया था, जिसमें 43 लोगों को मौत हो गई थी. हालांकि बाद में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया था. साथ ही 41 विदेशी नागरिकों सहित 126 लोगों को रेस्क्यू किया गया था.

,
Shares