तहसीलदार पर हमले के विरोध में तहसील कार्यालय में लगा ताला

होशंगाबाद, 03 मार्च । खनिज माफियाओं द्वारा गुरूवार को तहसीलदार पर किए गए जानलेवा हमले के विरोध में पिपररिया में तहसील कार्यालय को बंद कर दिया गया हैं। पटवारी सहित सभी कर्मचारी धरने पर बैठ गए हैं। हमला करने वाले खनिज माफियाओं की गिरफ्तार की मांग पर अड़े हुए हैं। दरअसल, खनिज माफियाओं द्वारा गुरुवार को पिपरिया तहसीलदार विंकी सिंघमारे पर जानलेवा हमला कर दिया था। जिसमें वह घायल होने से बाल-बाल बचीं। लेकिन बीच बचाव करने में तहसीलदार का ड्राइवर घायल हो गया जिसे पिपरिया अस्पताल में भर्ती किया गया है। तहसीलदार को अवैध उत्खनन करने की सूचना मिली थी। जिसके बाद वह पिपरिया के मोहारी कला गांव में कार्रवाई करने पहुंची थी। लेकिन खलिज माफियाओं ने शासन का डर जैसे खत्म हो गया है। तहसीलदार को देख बौखलाए माफियाओं ने पहले तो उनपर हमला किया लेकिन वह बच गईं। बाद में माफियाओं ने तहसीलदार के ड्राइवर को घेर लिया और उसके साथ झूमा झटकी करने लगे। काफी देर तक तहसीलदार ने बीच-बचाव किया जिसमें उनका ड्राइवर घायल हो गया।

,
Shares