जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या हुई 110

 

 

नई दिल्ली। जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 110 पर जा पहुंची है। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 35 और लोगों की मौत हो गई। यहां अब तक कुल 78 लोगों की मौत हो चुकी है।

 

वहीं, उत्तराखंड के हरिद्वार में मृतकों की कुल संख्या 19 से बढ़कर 32 हो गई है। सहारनपुर में प्रभावित 90 से ज्यादा मरीजों का उपचार विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। जिला प्रशासन ने 46 का पोस्टमार्टम कराया है। हालांकि प्रशासन जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 36 बता रहा है।

पुलिस की तरफ से तीन एफआइआर दर्ज कर करीब 39 की गिरफ्तारी की गईं है। जहरीली शराब ने सहारनपुर के थाना देवबंद, नागल व गागलहेड़ी क्षेत्र में कोहराम मचा दिया। यहां अब भी लोग सहमे हुए हैं। पुलिस द्वारा शराब के खिलाफ चलाए गए अभियान में करीब 400 लीटर लाहन व अवैध शराब जब्त कर 39 आरोपितों को

गिरफ्तार किया है। जिलाधिकारी आलोक पांडे के अनुसार, अब तक 46 ग्रामीणों की मौत हुई है। सभी का पोस्टमार्टम कराया गया है। इनमें से 36 लोगों की मौत शराब से होना डाक्टर द्वारा बताया जा रहा है। अन्य ग्रामीणों की मौत विभिन्न रोगों से होना बताया गया है।

पुलिस व आबकारी टीम की संयुक्त कार्रवाई चल रही है। वहीं, हरिद्वार जिले के पांच गांवों में जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या 32 पहुंच गई है। प्रभावित गांवों से बीमारों का अस्पताल पहुंचने का सिलसिला शनिवार को भी जारी रहा। 50 से ज्यादा लोग अब भी अस्पतालों में भर्ती हैं।

इनमें 35 की हालत गंभीर बताई जा रही है। सरकार ने मृतक आश्रितों को दो-दो लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये आर्थिक सहायता देने को एलान किया। इससे पहले कुछ सुबह आश्रितों ने मुआवजे की मांग को लेकर सुबह शव ले जाने से मना कर दिया था।

झबरेड़ा थाना क्षेत्र के बाल्लुपुर, जहाजगढ़, भलस्वागाज, बिंड और खरक गांव में गुरुवार शाम से जहरीली शराब से मरने वालों का सिलसिला श़्ाुरू हुआ, जो अब तक जारी है। पोस्टमार्टम हाऊस में भीम आर्मी के लोगों ने मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर हंगामा भी किया।

बाल्लुपुर और बिंड गांव से कच्ची शराब खरीदी

जानकारी के अनुसार, इन सभी ने हरिद्वार के बाल्लुपुर और बिंड गांव से कच्ची शराब खरीदी थी। इन दोनों ही गांवों में लंबे समय से कच्ची शराब का धंधा चल रहा था। पुलिस, प्रशासन और आबकारी विभाग के कारिदे इस तरफ आंखें मूंदे रहे। इतनी बड़ी संख्या में मौत होने के बाद इन गांवों में जिम्मेदारों की कदमताल दिखी।

उप्र व उत्तराखंड की संयुक्त समिति करेगी जांच

जहरीली शराब पीने से बड़ी संख्या में लोगों की मौत के मामले की जांच के लिए उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के अधिकारियों की एक संयुक्त समिति गठित की जाएगी।

यह निर्णय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता के बाद लिया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस समिति के गठन के बाद मामले की वास्तविकता का पता चल सकेगा।

,
Shares