चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पश्चिम बंगाल में गुरुवार रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक,गृह सचिव को हटाया

 

चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पश्चिम बंगाल में गुरुवार रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक

कोलकाता। चुनाव आयोग ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए बंगाल में गुरुवार रात 10 बजे से चुनावी प्रचार पर रोक लगा दी है। ऐसा पहली बार हुआ है जबकि समय से पहले ही प्रचार पर रोक लगाने का मामला सामने आया है।

इसके साथ ही, आयोग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बंगाल के गृह विभाग के प्रमुख सचिव को वर्तमान प्रभार से हटा दिया है। सीआईडी एडीजी को अटैच किया है। गृह सचिव को भी हटा दिया गया है। चुनाव आयोग ने 9 संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है।

 

ANI

✔@ANI

Election Commission: The Commission is deeply anguished at the vandalism done to the statue of Vidyasagar. It is hoped that the vandals are traced by the state administration.

 

इनमें दमदम, बारासात, बशीरहाट, जयानगर, मथुरापुर, जादवपुर, डायमंड हार्बर, दक्षिण और उत्तर कोलकाता शामिल है। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में हो रही चुनावी हिंसा के चलते यह कदम उठाया है।

यह पहला मौका है जब चुनाव आयोग ने धारा 324 का प्रयोग किया है। धारा 324 को चुनाव के दौरान कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति और बढ़ती हिंसा को देखते हुए लगाने का प्रावधान है। कोलकाता में मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान पथराव, आगजनी, लाठीचार्ज की घटना हुई है।

 

अमित शाह जिस वाहन पर सवार थे, उस पर डंडे फेंके गए और भाजपा समर्थकों पर पथराव किया गया। इस दौरान विद्यासागर कॉलेज में लगी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी गई। इसका आरोप भाजपा पर लगाया है, जबकि भाजपा ने इसके पीछे तृणमूल का हाथ बताया है।

 

हिसा में दोनों पक्षों के कई लोग जख्मी हो गए। दरअसल, शाह के रोड शो को लेकर सुबह से ही खींचतान चल रही थी। पहले धर्मतल्ला में रोड शो के लिए लगाए गए पीएम मोदी व शाह के बैनर-होर्डिंग्स हटा दिए गए। इसे लेकर भी काफी हल्ला हुआ। इसके बाद शाम को शाह का रोड शो शुरू हुआ।

,
Shares