गर्मी :केरला एक्सप्रेस में तीन यात्री और भोपाल में अधेड़ की मौत

 

 

 

दक्षिण भारत में भले ही मानसून आ गया हो, पर उत्तर भारत में गर्मी अब प्राणघातक हो चुकी है। सोमवार को नई दिल्ली से त्रिवेंद्रम जा रही केरला एक्सप्रेस के स्लीपर कोच एस-8 व 9 में भीषण गर्मी से तीन यात्रियों की मौत हो गई। यात्रियों की तबीयत ग्वालियर में बिगड़ गई थी, झांसी पहुंचते-पहुंचते इनकी मौत हो गई। वहीं भोपाल में बिलखिरिया थाना क्षेत्र में इरशाद फार्म हाउस के पास पेड़ के नीचे एक अधेड़ का शव मिला।

माना जा रहा है कि उनकी जान भी गर्मी के कारण गई। इस बीच, सोमवार को प्रदेश के 11 शहरों में पारा 46 डिग्री से ऊपर रहा। नौगांव में सबसे ज्यादा 49 डिग्री पारा रिकॉर्ड हुआ। साेमवार काे भाेपाल में लगातार छठे दिन लू चली। तापमान सामान्य से 7 डिग्री ज्यादा रहा। यहां रात में भी पारा 30 डिग्री से ज्यादा है।प्रदेश में सबसे ज्यादा बुंदेलखंड तपा। छतरपुर, सागर, दमाेह एवं खजुराहाे सबसे गर्म रहे। इसके बाद विंध्य तप रहा है। मालवा- निमाड़ अाैर महाकौशल में गर्मी से मामूली राहत मिली है।

डबरा-झांसी के बीच बिगड़ी तबीयत :जीआरपी झांसी के टीआई अजीत सिंह ने बताया कि जब केरला एक्सप्रेस डबरा- झांसी के बीच गुजर रही थी तभी 5 लोगों की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। इसकी सूचना उन्होंने ट्रेन में मौजूद टीटीई को दी। ट्रेन जैसे ही झांसी स्टेशन के प्लेटफार्म 3 पर पहुंची तो काेच एस-8 और एस- 9 में 5 मरीजों की तबीयत खराब होना बताया गया।

,
Shares