करोड़ों ग्राहकों को SBI का झटका, आपके बचत खाते पर चलाई कैंची

 

भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) के ग्राहकों के लिए बुधवार का दिन थोड़ी खुशी और थोड़े गम का रहा. दरअसल, एसबीआई ने MCLR आधारित लोन पर ब्याज की दरें घटा कर लोन लेने वाले ग्राहकों को खुशखबरी दी. वहीं बैंक ने बचत खाते में जमा राशि यानी फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज में कटौती की है. इस फैसले का नुकसान उन ग्राहकों को होगा जिन्‍होंने एसबीआई में एफडी करवा रखी है.

एसबीआई ने क्‍या-क्‍या लिया फैसला ?

– SBI की ओर से जारी बयान के मुताबिक बैंक अब सेविंग अकाउंट में 1 लाख रुपये तक जमा रखने वालों को 3.25 फीसदी के हिसाब से ब्याज देगा. अब तक इस रकम पर 3.50 फीसदी के हिसाब से बैंक के ग्राहकों को ब्‍याज मिलता था. SBI के बचत खाते पर संशोधित ब्याज दरें 1 नवंबर 2019 से लागू हो जाएंगी.

– इसी तरह एसबीआई ने 1 साल से दो साल तक की मैच्योरिटी वाली रिटेल एफडी पर जमा दरों में 0.10 फीसदी की कटौती की है. इस कटौती के बाद ब्‍याज दर 6.50 फीसदी से घटकर 6.40 फीसदी रह गई है. एसबीआई में 2 करोड़ रुपये कम की डिपॉजिट रिटेल एफडी है.

– वहीं एसबीआई ने 1 साल से दो साल तक की मैच्योरिटी वाली बल्क एफडी यानी  2 करोड़ या उससे ज्यादा की जमा पर ब्‍याज दरों में 0.30 फीसदी की कटौती की है. यह अब 6.30 फीसदी से घटकर 6.00 फीसदी रह गया है. रिटेल और ब्‍लक एफडी की नई दरें 10 अक्टूबर यानी कल से लागू हो जाएंगी.

– इससे पहले आम लोगों को राहत देते हुए एसबीआई ने सभी तरह के लोन पर सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) को 0.10 फीसदी कम कर दिया है. बैंक के इस ऐलान के बाद होम लोन पर ब्‍याज दर कम हो जाएगी.इस कटौती के बाद एक साल के लोन का एलसीएलआर कम होकर 8.05 फीसदी पर आ गया है.

,
Shares