एम्स भोपाल : घर बैठे मिलेगी किसी भी तरह की जांच रिपोर्ट, करना होगा ये काम

भोपाल। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल में मरीजों के लिए बड़ी सुविधा शुरू होने जा रही है। जांच होते ही मरीजों की रिपोर्ट ऑनलाइन कर दी जाएगी। मरीज अपनी यूनिक हेल्थ आईडेंटीफिकेशन (यूएचआईडी) नंबर डालकर जांच रिपोर्ट डाउनलोड कर सकेंगे। करीब डेढ़ महीने के भीतर यह सुविधा शुरू हो जाएगी।

एम्स के एक अधिकारी ने बताया कि इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। संबंधित स्टाफ को ट्रेनिंग दी जा रही है। इसका सबसे ज्यादा फायदा ओपीडी में आने वाले मरीजों को मिलेगा। उन्हें रिपोर्ट लेने के लिए एम्स नहीं आना पड़ेगा।

इसके अलावा नेशनल इंफारमेशन सिस्टम (एनआईसी) के सहयोग से हास्पिटल मैनेजमेंट इंफारमेशन सिस्टम (एचएमआईएस) शुरू करने का काम भी चल रहा है। यह व्यवस्था शुरू होने के बाद मरीज का रजिस्ट्रेशन नंबर डालकर मरीज के इलाज से जुड़ी सारी जानकारी डॉक्टर देख सकेंगे। मरीज को सिर्फ ओपीडी रजिस्ट्रेशन नंबर बताना होगा।

एचएमआईएस से यह होगा फायदा

-डॉक्टर-नर्स को मरीज की केस शीट देखने की जरूरत नहीं, वह मरीज का रजिस्ट्रेशन नंबर डालकर पूरा ब्यौरा देख सकेंगे।

– मरीज कब भर्ती हुआ, कौन डॉक्टर देख रहा, एडमिशन रिपोर्ट, जांचें, एलर्जी, हिस्ट्री, डिस्चार्ज आदि जानकारी मिल जाएगी।

– मरीज के रेफर होने पर पूरा ब्यौरा ऑनलाइन भेजा जा सकता है।

– एक्सरे, सीटी स्कैन, एमआरआई की रिपोर्ट को कंप्यूटर पर जरूरत के अनुसार बढ़ाकर देखा जा सकेगा।

ब्लड की उपलब्धता की जानकारी भी मिलेगी

एम्स भोपाल के ब्लड बैंक में उपलब्ध ब्लड की जानकारी भी ऑनलाइन करने का काम चल रहा है। कोई भी व्यक्ति एम्स की वेबसाइट के जरिए यह देख सकेगा कि ब्लड बैंक में किस ग्रुप का कितने यूनिट ब्लड उपलब्ध है। साथ ही रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए कैंप की जानकारी भी वेबसाइट के जरिए दी जाएगी।

,
Shares