उज्जैन ने कलेक्टर ने रचा विश्व कीर्तिमान

उज्जैन, 08 मार्च । प्रशासन यदि किसी काम की ठान ले तो काम रुक नहीं सकता बल्कि शाही तरीके से सम्पन्न भी हो सकता है। यह कर दिखाया है उज्जैन जिले के युवा कलेक्टर संकेत भोण्डवे ने। अपनी सकारात्मक सोच को आम आदमी से जुड़कर लक्ष्य प्राप्त करने का अनोखा उदाहरण भी प्रस्तुत किया है। यह उदाहरण बना है मंगलवार को सम्पन्न 101 जोड़ों दिव्यांग जोड़ों का सामुहिक विवाह समारोह, जिसमें हिंदू-मुस्लिम-सिख-अन्तर जातीय जोड़े शामिल रहे। कलेक्टर ने इस विवाह समारोह के साथ ही विश्व कीर्तिमान भी स्थापित कर दिया। दो रिकॉर्ड दर्ज किए गए। ये रिकॉर्ड गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्डस में दर्ज हो गए हैं। कलेक्टर ने इसका श्रेय आयोजन से जुड़े सभी आनन्दकों, सामाजिक संस्थाओं, शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को दिया है। जिन्होने रात दिन मेहनत करके एक भव्य आयोजन किया वहीं अपने घर में विवाह समारोह है, इस तर्ज पर रतजगा करके मेहनत की और कार्य को अंजाम दिया। ऐसा होना, कागजों पर तो पढ़ा जाता था जमीन पर यह हकीकत शहरवासियों ने पहली बार देखी। बारात का स्वागत करने जनप्रतिनिधियों के साथ शासकीय अधिकारी दहलीज पर खड़े थे।हर एक के चेहरे पर प्रसन्नता के साथ ही उमंग और उल्लास के भाव थे। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत ने भी खुले हाथों से शासकीय योजना का लाभ दिया। इधर शहरभर में एक ही चर्चा रही कलेक्टर हो तो ऐसे ।

Shares