आरबीआई की कर्ज नीति का ऐलान, ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्ली: आरबीआई ने आज अपनी कर्ज नीति का ऐलान करते हुए ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. उम्मीद के मुताबिक ही आरबीआई ने रेपो रेट, रिवर्स रेपो रेट को पहले के स्तर पर ही कायम रखा है. बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की 6 और 7 फरवरी को बैठक हुई. बैंक ने रेपो रेट 6 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 5.75 फीसदी पर बरकरार रखा है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आज कहा कि जीएसटी स्थिर हो रहा है, आर्थिक गतिविधियां बढ़ रही हें और निवेश में सुधार के शुरुआती संकेत मिल रहे हैं. वहीं, रिजर्व बैंक ने 2017-18 के लिए आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 6.7 से घटाकर 6.6 प्रतिशत किया है. अगले वित्त वर्ष में वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है.

ज्यादातर जानकार यही मान भी रहे थे कि मुद्रास्फीति में वृद्धि, तेल के दाम में तेजी और सरकार की फसल का समर्थन मूल्य बढ़ाने की योजना को देखते हुए मानक नीतिगत दर में कटौती से परहेज कर सकता है. बता दें कि आरबीआई ने दिसंबर में मौद्रिक नीति समीक्षा में मुद्रास्फीति में वृद्धि की आशंका को देखते हुए मानक नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया था. साथ ही चालू वित्त वर्ष के लिये आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम कर 6.7 प्रतिशत कर दिया था. केंद्रीय बैंक ने अगस्त में नीतिगत दर रेपो 0.25 प्रतिशत कम कर 6 प्रतिशत कर दिया जो छह साल का न्यूनतम स्तर है.

,
Shares