आइडिया-वोडाफोन के विलय का ऐलान

 

 

नई दिल्ली। देश की दूसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन ने आइडिया सेल्यूलर के साथ विलय का ऐलान कर दिया है। यह ऐलान आइडिया द्वारा विलय को मंजूरी दिए जाने की खबर के बाद आया है। इन दोनों कंपनियों का संयुक्त उपक्रम देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी के रूप में उभरेगा। फिलहाल भारती एयरटेल 28 करोड़ ग्राहकों से साथ नंबर वन पर थी।

नए उपक्रम के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला होंगे। उन्होंने खुद इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि नई कंपनी का चेयरमैन नामित किए जाने से मैं बेहद खुश और सम्मानित महसूस कर रहा हूं।

बीएससी में की गई एक फाइलिंग में कंपनी ने बताया कि इस विलय के बाद संयुक्त इकाई में इसके पास 45 प्रतिशत शेयर्स होंगे। इस विलय के बाद यह संयुक्त उपक्रम देश की सबसे बड़ी कंपनी के तौर पर सामने आएगा। रेवन्यू में इसकी हिस्सेदारी करीब 40 फीसद होगी और 38 करोड़ से ज्यादा इसके ग्राहक होंगे।

आपको बता दें कि वायरलैस सब्सक्राइबर के आधार पर वोडाफोन दूसरे और आइडिया तीसरे नंबर पर है। यह मर्जर एयरटेल और रिलायंस जियो और एयरटेल को पीछे छोड़ देने में सक्षम है।

डील के अनुसार आइडिया के पास संयुक्त उपक्रम के चेयरमैन की नियुक्ति के पूर्ण अधिकार होंगे वहीं दोनों कंपनियां मिलकर ही चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर की नियुक्ति कर सकेंगी। वोडाफोन अपनी तरफ से 3 डाररेक्टर्स नियुक्त कर सकेगी।

 

Shares