अब नर्मदा में दाह संस्कार नहीं करेंगे ग्रामवासी

रायसेन, 08 मार्च । नमामि देवी नर्मदे-नर्मदा सेवा यात्रा के चलते लोगों में नर्मदा नदी के संरक्षण और पर्यावरण को लेकर जागरूकता आ रही है। नर्मदा तट के कई गांवों के ग्रामवासी पहले गांव में किसी व्यक्ति की मृत्यु होने पर नर्मदा नदी के तट पर दाह संस्कार करते थे, जिससे अपशिष्ट नर्मदा नदी में मिलता था। अनेक ग्रामवासियों ने इस बात को माना कि इससे नर्मदा का जल प्रदूषित होता है। अब ग्रामवासी दाह संस्कार शांति धाम में ही करने के प्रति जागरूक हो रहे हैं। जिन गांवों में शांति धाम नहीं है वहां पंचायतों द्वारा शांति धाम निर्माण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अनेक सचिव एवं सरपंचों ने बताया कि नर्मदा सेवा यात्रा आने के पूर्व ऐसे गांवों में शांति धाम का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। जिला प्रशासन द्वारा इसे सर्वाधिक प्राथमिकता देते हुए निर्माण कार्यो को गति दी जा रही है। 

 

Shares